Kohbar ki Shart Book Pdf | कोहबर की शर्त उपन्यास

दोस्तों इस पोस्ट में आपको Kohbar ki Shart Book Pdf मुफ्त में उपलब्ध करवाई गयी है, जिसे आप पोस्ट में दिए गए Download Link की सहायता से आसानी से फ्री Download कर सकते है।

कोहबर की शर्त उपन्यास की रचना केशव प्रसाद के द्वारा की गयी है। इस उपन्यास में उत्तरप्रदेश के दो गाँवो बलिया तथा चौबेछपरा के जनजीवन का बहुत ही गहनता के साथ चित्रण किया गया है। साथ ही नदियों के पार फिल्म इसी उपन्यास का अपररूप है। इस फिल्म के पात्रो के नाम तथा घटनाक्रम इसी उपन्यास से मेल खाते है।

इस पोस्ट में हम आपको कोहबर की शर्त उपन्यास PDF फॉर्मेट में उपलब्ध करवाने जा रहे है, साथ ही इसके बारे में जानकारी देने जा रहे है। यदि आप इस उपन्यास को पढ़ना चाहते है तथा पढ़ने से पूर्व इस इस उपन्यास के मुख्य सारांश के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर ध्यानपूर्वक पढ़े।

Kohbar ki Shart Book Pdf Details

PDF TitleKohbar ki Shart Book Pdf
Language Hindi
Category Book
Total Pages 209
PDF Size3 MB
Download Link Available
NOTE - यदि आप Kohbar ki Shart Book Pdf Free Download करने के लिए नीचे दिए गए Download करने के लिए नीचे दिए गए Download बटन पर क्लिक करें। 

Kohbar ki Shart Pdf

फ़िल्मी दुनिया में एक अनोखी छाप छोड़ी है। “नदिया के पार” और “हम आपके है कौन” नामक फिल्में इसी उपन्यास पर आधारित है। यदि आपने नदिया के पार फिल्म को पूरा देखा है तो आपको इस पुस्तक को पूरा पढ़ने में किसी भी प्रकार की कठिनाई होगी।

जब आप इस उपन्यास को पढ़ने बैठेंगे तो आप इसे इतनी रूचि पूर्ण मग्न हो जायेंगे कि आप इसे पूरा पढ़ने के बिना रह नहीं पाएंगे। इस उपन्यास में ग्रामीण जीवन का रमणीय चित्रण किया गया है।

यदि आप इस उपन्यास को पढ़ते है तो इसके अंतर्गत दिए गए पात्रों का दुःख स्वयं का दुःख लगने लगता है। इस दुःख को आप महसूस कर सकते है। इस उपन्यास में दिए गए पात्र चंदन, गूंजा, बाला पचीसा से आपका इतना लगाव हो जायेगा कि मानो वह आपके अपने लोग है।

Kohbar ki Shart Book Pdf | Summary

यदि आप नदिया के पार फिल्म के अंत के आगे की कहानी जानना चाहता है तो इस पुस्तक में दिए गए उपन्यास को एक बार जरूर पढ़े। यहाँ हम इस उपन्यास का शुरूआती अंश उपलबाह करवाने जा रहे है जो कि निम्न है –

कचहरी से काका को चार बजे फुर्सत मिली। तीन बजे मुकदमे की पेशी हुई। चार बजे तक बहस हुई। बाहर निकलते ही वकील से विदा मांग और गाडी पकड़ने स्टेशन की ओर लपके। स्टेशन पहुंचते-पहुंचते पसीने से नहा गए। पूरब वाली पांच-बज्जी प्लेटफार्म पर खड़ी थी। बैठने को जगह खोजने लगे।

रोज की तरह साँझ को घर लौटने वाले मुदमेबाज और बिना टिकट चलने वाले स्कूली लड़को से, बलिया से पूरब जाने वाली यह गाडी खचाखच भर गयी थी। साड़ी भीड़ पांचो स्टेशन तक थी। पहले स्टेशन बांसडीह से ही भर भराकर भीड़ उत्तर जाती है। लेकिन काका को इन स्टेशन रेवती तक जाना था।

पूरी गाडी के दो चक्कर लगाने के बाद, बड़ी कठिनाई से एक डिब्बे में खड़े होने को जगह मिली। जगह तो मिली, लेकिन गर्मी के मारे खडा रहना भी कठिन लगने लगा। अंगोछे से हवा करते हुए चुपचाप बाहर देखते रहे। गाडी चली तब जान में जान आयी। बांसडीह के बाद सहंतवार, फिर रेवती आया।

काका उतरे तो दिन डूबने में अभी तक डेढ़ घंटे की देरी थी। स्टेशन से बाहर निकलते ही, पूरब-दखिन के कोने पर, गढ़ -सा बसा हुआ गांव बलिहार दिकहि देने लगता है। धरती तो दो ही कोस की है, लेकिन चलाती बहुत है। स्टेशन से चोबरछपरा के बिच का छोड़ा सपाट ताल जल्दी कटता ही नहीं।

आजकल तो रामपुर के सामने भरी हुई नदी सोना पार करनी पड़ती है, अगर नाव नहीं मिली तो देह के सारे कपडे सर में लपेटे तैरना पड़ता है। अँजोर रहते अगर पहुंच गए तब भी गनीमत रहती है, नहीं तो संझलोंके में इस उफनती हुई नदी को देखकर हिम्मत छूट जाती है। भादो की साँझ का कौन ठिकाना ! बादल उमड़े तो पहले ही घटा गिर आयी।

FAQs : Kohbar ki Shart Book Pdf

Kohbar ki Shart Book Pdf Free Download कैसे करें?

यदि आप कोहबर उपन्यास पुस्तक Pdf फॉर्मेट में Download करना चाहते है तो पोस्ट में दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करके आसानी से फ्री में डाउनलोड कर सकते है।

कोहबर की शर्त किसकी रचना है?

कोहबर की शर्त नामक उपन्यास केशव प्रसाद द्वारा रचित है।

शादी में कोहबर क्या है?

कोहबर के कई प्रकार से अर्थ निकलते है। शादी के सन्दर्भ में कोहबर से तात्पर्य दुल्हन का कमरा’ या ‘विवाह कक्ष से है। इस कला की शुरुआत राजा जनक के द्वारा लगभग 2500 साल पहले हुई थी।

Conclusion :-

इस पोस्ट में Kohbar ki Shart Book Pdf मुफ्त में उपलब्ध करवाई गयी है। साथ ही इस उपन्यास के सारांश के बारे में जानकारी दी गयी है। उम्मीद करते है कि Kohbar ki Shart Book in Hindi Pdf Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं हुई होगी।

आशा करते है कि यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आयी होगी। यदि आपको Kohbar ki Shart Book Pdf in Hindi Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या आ रही हो तो कमेंट करके जरूर बताये। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Download More PDF :-

Leave a Comment